Greater Noida Expressway: ये इंडिया ही है जनाब जहा पहला और अनोखा एक्सप्रेसवे बनने जा रहा है, नोएडा से लेकर बेंगलुरु तक के लोग बोलेंगे- मजा आ गया

Greater Noida Expressway: ये इंडिया ही है जनाब जहा पहला और अनोखा एक्सप्रेसवे बनने जा रहा है, नोएडा से लेकर बेंगलुरु तक के लोग बोलेंगे- मजा आ गया

Today Haryana। New Delhi।  Greater Noida Expressway

Greater Noida Expressway: उत्तर प्रदेश को एक्सप्रेसवे और हाईवे का शहर माना जाता है। जिसका मुख्य कारण यह है कि अभी तक उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा हाईवे और एक्सप्रेसवे बन रहे हैं, लेकिन अब देश में एक अनोखा एक्सप्रेसवे बनने जा रहा है। इसकी खासियत को जानकर आप सोचोगे कि यह इंडिया का नहीं बल्कि अमेरिका का एक्सप्रेसवे है। यह दो मेट्रो सिटी की बीच की दूरी को घटा देगा।

5 घंटों का सफर 2 घंटों में होगा तय

देश के इन दोनों नामी शहरों के बीच में फिलहाल 300 किलोमीटर का फर्क है, लेकिन जब यह एक्सप्रेसवे बन जाएगा तो आपको लगेगा की दूरी घट गई है। अभी इन दोनों शहरों के बीच का सफर करने में 5 घंटों का समय लगता है, लेकिन इस एक्सप्रेसवे के बनने के बाद केवल 2 घंटे में अपनी मंजिल तक आपको सकते हो। आइए जानते हैं भारत के पहले इस अनोखे एक्सप्रेसवे के बारे में।

दूरी भी घट जाएगी

यह एक्सप्रेसवे चेन्नई और बेंगलुरु महानगर के बीच में बनेगा। इन दोनों महानगर की बीच की दूरी अभी 300 किलोमीटर है, लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक इस भारत के पहले अनोखे एक्सप्रेसवे के बनने के बाद न्यू रोड प्रोजेक्ट के मुताबिक दोनों की बीच की दूरी घटकर 262 किलोमीटर हो जाएगी। यह बेहतर एलाइनमेंट की वजह से होगा।

चौड़ाई 8 लेन की होगी

शुक्रवार को दिन केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इस प्रोजेक्ट का एरियल सर्वे किया है। नितिन गडकरी का कहना है कि वर्ष 2024 तक यह खास एक्सप्रेसवे का काम पूरा हो जाएगा। इस एक्सप्रेसवे पर 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के गाड़ियां दौड़ेंगी। बेंगुलरू और चेन्नई के बीच की दूरी कुल 2:15 घंटे में पूरी कर सकेंगे। इस एक्सप्रेसवे की चौड़ाई 8 लेन की होगी।

करीब 17,000 करोड़ रुपए खर्च होंगे

बताया जा रहा है कि इस एक्सप्रेसवे का निर्माण नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी कि एनएचएआई करेगी। बताया जा रहा है कि पूरी परियोजना में करीब 17,000 करोड़ रुपए की लागत आएगी। परिवहन मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार 231 किलोमीटर का रूट मैप बनकर तैयार हो गया है। इसमें एक और खास बात यह भी है कि एक्सप्रेसवे बनने के बाद लॉजिस्टिक कोस्ट की कीमत 16% से घटकर 6% रह जाएगी। आपको बता दें कि आज के समय में नोएडा और दिल्ली समेत पूरे एनसीआर के लाखों लोग बेंगलुरु और चेन्नई में नौकरी करते हैं। इस एक्सप्रेसवे के बनने के बाद उन लोगों को भी बड़ा फायदा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *