Haryana Skill Development: हरियाणा में स्कूल स्तर पर कौशल विकास की शिक्षा, 10 जिलों में खुलेंगे स्कूल, छात्रों को भी छात्रवृति

हरियाणा में स्कूल स्तर पर कौशल विकास की शिक्षा, 10 जिलों में खुलेंगे स्कूल, छात्रों को भी छात्रवृति

Today Haryana। चंडीगढ़ : हरियाणा के 10 जिलों में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की तर्ज पर इनोवेटिव स्किल स्कूल खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को उच्च स्तरीय बैठक में स्किल एजुकेशन के केजी टू पीजी माडल पर मुहर लगा दी।

Haryana Skill Development: इन स्कूलों को श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय संचालित करेगा और नवाचार की श्रेणी में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) इन्हें मान्यता देगा। श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय द्वारा इनोवेटिव स्किल स्कूल की तर्ज पर सभी जिलों में इनोवेटिव स्किल स्कूल खोले जाएंगे। स्कूलों में स्किल एजुकेशन लागू करने में विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किए गए माडल को लागू किया जाएगा। श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के कुलपति राज नेहरू ने कहा कि स्कूल स्तर पर स्किल एजुकेशन शुरू करने से न केवल ड्राआउट कम होगा, बल्कि ग्रास एजुकेशन रेशो (जीईआर) को भी बढ़ाया जा सकेगा। साथ ही उद्योगों को कुशल मानवीय संसाधन मिलेंगे जो गुणवत्ता और उत्पाद को बढ़ाने में सहायक साबित होंगे। नई शिक्षा नीति के अनुरूप पाठ्यक्रम तैयार किया गया है।Haryana Skill Development

छात्रों को मिलेगी छात्रवृत्ति

हरियाणा संस्कृत अकादमी संस्कृत पढ़ने वाले छात्रों को करीब 44 लाख रुपये की छात्रवृत्ति देगी। संस्कृत पाठशालाओं, गुरुकुलों तथा संस्कृत महाविद्यालयों में पढ़ने वाले प्रथमा, पूर्व मध्यमा, उत्तर मध्यमा तथा आचार्य कक्षाओं के चयनित 1339 छात्रों को यह छात्रवृत्ति दी जाएगी। अकादमी के निदेशक डा. दिनेश शास्त्री ने बताया कि चयनित 745 छात्रों के खाते में धनराशि भेज दी गई है।Haryana Skill Development

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *