todayharyana

मुआवजे के लिए खुशखबरी! हरियाणा के किसानों को 31 जुलाई से पहले करें आवेदन

Good news for compensation! Farmers of Haryana should apply before July 31
 | 
HR

TODAY HARYANA: हरियाणा के किसानों के लिए अच्छी खबरी है। हाल ही में राज्य सरकार ने बाढ़ पीड़ित किसानों को मुआवजा देने के लिए पोर्टल को खोल दिया है। इस घोषणा के अनुसार, किसान 31 जुलाई से पहले इस पोर्टल पर आवेदन कर सकते हैं और अपने मुआवजे की योजना बना सकते हैं। लेकिन इसके लिए किसानों को सरकारी पोर्टल पर पंजीकरण करवाना अनिवार्य होगा।

आवेदन करने की तिथि: 31 जुलाई तक

अब तक कुरुक्षेत्र से 73 फीसदी किसानों ने 'मेरी फसल-मेरा ब्यौरा' पोर्टल पर पंजीकरण करवा लिया है। बढ़ते जलस्तर के कारण बाढ़ पीड़ित किसानों को अपनी फसलों में बड़ा नुकसान हुआ था। सरकार ने इस समस्या को समझते हुए इस नए पोर्टल को शुरू किया है ताकि किसानों को उचित मुआवजा दिया जा सके।

पंजीकरण कैसे करें?

कृषि एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों ने निर्देश दिए हैं कि बाढ़ पीड़ित किसानों को सबसे पहले 'मेरी फसल-मेरा ब्यौरा' पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा। पंजीकरण के उपरांत, किसान ई-क्षतिपूर्ति पोर्टल पर आवेदन कर सकते हैं और अपने मुआवजे की योजना बना सकते हैं।

गांव-गांव जाकर जानकारी

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उपनिदेशक गांव-गांव जाकर बाढ़ पीड़ित किसानों को ई-क्षतिपूर्ति पोर्टल और मुआवजे के बारे में जानकारी देंगे। सरकार ने बढ़ते जलस्तर के कारण फसलों को नुकसान पहुंचने वाले किसानों के लिए मुआवजा देने का निर्णय लिया है। इससे उन्हें अपनी खोई हुई फसलों का नुकसान पूरा होगा और वे आने वाले समय में अधिकारों की रक्षा कर सकेंगे।

नोट: यह ख़बर सत्यापित स्रोतों से ली गई है। हम आपको ध्यान देने की सलाह देते हैं कि आप भी सतर्क रहें और सरकारी पोर्टलों पर वैध और सत्यापित जानकारी के आधार पर ही आवेदन करें।