Today Haryana

मामूली सा ड्राइवर कैसे बना 110 करोड़ का मालिक, क्यों सता रहा है जान जाने का खतरा

शराब कारोबारी ने अपने 15 हजार रुपये तनख्वाह पाने वाले ड्राइवर के नाम से कंपनी खोल, उसमें 110 करोड़ का कारोबार किया और उसके नाम से कई खाते खोल मोटी कमाई की

मामूली सा ड्राइवर कैसे बना 110 करोड़ का मालिक, क्यों सता रहा है जान जाने का खतरा
X

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज के पास पानीपत के एक नामी शराब कारोबारी के पूर्व ड्राईवर ने शिकायत सौंपी है कि वो कारोबारी नरेंद्र नारवाल नद उसके नाम से शराब के ठेके लिए और उस पर अवैध तरीके से शराब बेचने का काम किया।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज के समक्ष पेश होकर पानीपत के एक शराब कारोबारी के पूर्व ड्राईवर ने बड़े आरोप लगाए हैं. शराब कारोबारी ने अपने 15 हजार रुपये तनख्वाह पाने वाले ड्राइवर के नाम से कंपनी खोल, उसमें 110 करोड़ का कारोबार किया और उसके नाम से कई खाते खोल मोटी कमाई की. मालिक ने उस कंपनी के नाम पर शराब के ठेके खोल अवैध शराब बेची और जेल की हवा ड्राइवर को खानी पड़ी. इस मामले में विज के सामने पेश हो ड्राइवर ने सुरक्षा की मांग की तो विज ने जांच के आदेश देते हुए पीड़ित को सुरक्षा प्रदान करवाई.

अनिल विज ने शिकायत सुनते ही तुरंत एक्शन लिया और पानीपत पुलिस को एक्शन लेने और पीड़ित कुलबीर सिंह को सुरक्षा देने के आदेश दिए. जितनी देर कुलबीर अंबाला में है, तब तक उसे अंबाला पुलिस ने सुरक्षा दी. प्रभावित कुलबीर सिंह ने बताया कि नरेंद्र नारवाल ने मिस्टर कुलबीर कंपनी बनाकर मेरे नाम पर 110 करोड़ रुपए का कारोबार किया. ऐसे में जब भी कोई हादसा या फिर पुलिस शराब पकड़ती थी तो मुझे थाने जाना पड़ता था. एक बार मैंने जेल भी काटी है. अब मुझे हमेशा डर लगा रहा है और उनका गैंग के साथ भी संपर्क है. आज मैं गृहमंत्री अनिल विज से मिलने पहुंचा हूं और उन्होंने आश्वासन दिया है कि कुछ नहीं होगा. मंत्री महोदय ने मुझे पुलिस सुरक्षा दी है.

पीड़ित कुलबीर सिंह ने बताया कि मुझे काफी समय के बाद में पता चला कि मेरे नाम पर कई बैंकों में एकाउंट खुले हुए हैं और मेरे एकाउंट को भी नरेंद्र नारवाल का आदमी अनिल परूथी ही साईन करता था। मन्नु नाम का शख्स कंपनियों का लेन देन करता है। वह लोग ही मेरे फर्जी साइन करते थे। मेरा एक पर्सनल एकाउंट है और उसमें अपना वेतन डालता था और उसी से अपना घर चलाता था।

गृहमंत्री अनिल विज के आदेशों के बाद पानीपत पुलिस अंबाला पहुंची और देर शाम पीड़ित कुलबीर को सुरक्षा प्रदान की और अपने साथ पानीपत लेकर गई। पानीपत पुलिस के ASI ने बताया गृहमंत्री उच्च अधिकारियों के आदेशों के बाद वे कुलबीर को साथ सुरक्षा में ले जाने आए हैं। आगे की कार्रवाई उच्च अधिकारियों के आदेशों अनुसार की जाएगी।

Next Story
Share it