ये है खास किस्म की कांकरेज गाय, रोजाना देती है 10-15 लीटर दूध

Mukesh Gusaiana
2 Min Read
Kankrej cow gives 10-15 liters of milk daily

किसान केसरी, डेयरी फार्मिंग: कांकरेज गाय एक प्रसिद्ध देशी नस्ल की गाय होती है, और यह भारत के गुजरात और राजस्थान राज्य में पाई जाती है। इस गाय की विशेषता उसकी उच्च दूध उत्पादन क्षमता है, जिसके लिए वह प्रसिद्ध है। यह गाय दिन में 6 से 10 लीटर तक के दूध का उत्पादन कर सकती है। कांकरेज गाय और बैल दोनों की बाजार में बड़ी मांग होती है, और इनका उपयोग दूध के साथ-साथ कृषि कार्यों में भी किया जाता है। इसे लोकल भाषा में “वागडिया”, “वागड़”, “बोनाई”, “नागर”, और “तलबाडा” आदि नामों से भी जाना जाता है।

इस गाय की विशेषताएं:

कांकरेज नस्ल की गायें एक महीने में औसतन 1730 लीटर तक के दूध का उत्पादन कर सकती हैं।
इसके दूध में वसा 2.9% से 4.2% तक की मात्रा में होता है।
वयस्क बच्चों की औसत ऊँचाई 25 सेमी है, जबकि वयस्क बैल की औसत ऊँचाई 158 सेमी होती है।
इन गायों का वजन 320 से 370 किलोग्राम के बीच होता है।
कांकरेज किस्म के मवेशी सिल्वर-ग्रे और आयरन ग्रे रंग के होते हैं।
इसका खान-पान काफी अच्छा होता है और इन्हें पर्याप्त चारा, पानी, और खाद्य मिलता है।

कीमत:

कांकरेज गायों की कीमत बाजार में उम्र और नस्ल के आधार पर निर्धारित की जाती है।
इन गायों की कीमत आमतौर पर 25,000 रुपये से 75,000 रुपये तक हो सकती है, और कुछ राज्यों में इससे भी अधिक हो सकती है।

पालन का तरीका:

कांकरेज गायों को गर्भावस्था के दौरान विशेष देखभाल की जरूरत होती है।
इस दौरान टीकाकरण आदि की जरूरत हो सकती है ताकि गायें रोगों से बच सकें और उनके बच्चे स्वस्थ हो सकें।
यह उन्हें अधिक उत्पादनक्षम और स्वस्थ बनाने में मदद करता है।

 

Share This Article
Follow:
मुकेश गुसाईंना (Mukesh Gusaiana) किसान केसरी में सीनियर एडिटर और इसके सस्थापक हैं. डिजिटल मीडिया में 9 साल से काम कर रहे हैं. इससे पहले जनता टाइम पर अपनी सेवाएं दे रहे थे, इन्होने अपने करियर की शुरूआत चौपाल टीवी में कंटेंट राइटिंग से की और पिछले कई सालों से लगातार ऊँचाइयों को छूते जा रहे हैं ।
Leave a comment